Home > Society > +919828566831 Rohaani Amliyat Shohar Ko Kabu Me Rakhne Ke Liye

+919828566831 Rohaani Amliyat Shohar Ko Kabu Me Rakhne Ke Liye

Added: (Thu Aug 03 2017)

Pressbox (Press Release) - Sadhna For Disarable Work
बिस्मिल्लाह नीर रहीम
बैजा वतस्तम वतस्तम जब्बारी !
शुक्ल पक्ष में सोमवार गुरुवार या शुक्रवार के रात्रि के सवा नो बजने के बाद साधना आरंभ करें ढाई हाथ शुद्ध सफ़ेद कपडा बिछाये! पश्चिम और मुह करके उस पर बैठे! सर को रुमाल आदि से ढक लें! दाहिनी औ जल का लौटा भरकर रखे! बायीं और बताशे एक मीठा लगा हुआ पान जिसमे एक लोंग भी खुसी हुई हो को रखे! खुशबूदार अगरबती जलाएं! इत्र के चार फोहे रखे! प्रत्येक वस्तु को इस मंत्र से 21 बार अभिमंत्रित करके रखें! अब बायाँ पैर कुल्हे के निचे मोड़कर व दाहिना पैर मोड़कर कुल्हे से परे रखकर बैठे! 41 दिन तक प्रतिदिन तीन घंटे तक निरंतर जप-क्रिया करें! बिस्मिल्लाह वाला पैरा जपकाल में केवल एक ही बार बोले! तत्पश्चात मंत्रजाप प्रारंभ करें! जप के समय यदि प्यास लगे तो लोटे से जल पी ले! ब्रह्मचर्य से रहे! तामसिक पदार्थ न खाए किसी प्रकार की असुची या अपवित्रता न रहे! जप प्रारम्भ करने के तीसरे दिन चार इत्र के फोहो में से एक रखे और तीन को किसी मस्जिद में चड़ा दें! बताशे हर दिन भिखारियों में बाँट दे! ग्यारहवे दिन इत्र के नये फोहे से फिर से पहले वाले क्रम में रखें! ध्यान रहे बीच-बीच में चमत्कार हो सकते है! जिनसे भयभीत नही होना चाहिए वरना नुक्सान उठाना पड सकता है! दिल मजबूत हो तभी फ़रिश्ता साधना करनी चाहिए तथा जपकाल में श्वास नहीं तोडना चाहिए! इस प्रकार जप करते करते बीच-बीच में एक बार श्वास लेते हुए भी जप कर लेना चाहिए! समय पूरा होते ही फ़रिश्ता-साधना की क्रिया पूरी हो जाती है! सिद्ध हो जाने पर साधक आलौकिक शक्ति का स्वामी बन जाता है! फिर उसके लिए कुछ भी करना असंभव नहीं रहता!
Contact Molana Ayan Ji
Call Or Whatsapp:- +919828566831
Or Email:- molanaayan0786@gmail.com

Submitted by:Molanaayan0786
Disclaimer: Pressbox disclaims any inaccuracies in the content contained in these releases. If you would like a release removed please send an email to remove@pressbox.co.uk together with the url of the release.